Thursday , May 23 2019
Loading...

डी के जैन के सामने तेंदुलकर व लक्ष्मण ने पंजीकृत कराएं अपने ये बयान

सचिन तेंदुलकर  वीवीएस लक्ष्मण ने हितों के विवाद के मुद्दे में मंगलवार को बीसीसीआई आचार ऑफिसर  लोकपाल न्यायमूर्ति (सेवानिवृत) डी के जैन के सामने अपने बयानपंजीकृत कराए
तेंदुलकर  लक्ष्मण दोनों क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) के मेम्बर हैं  इसके साथ ही वे आईपीएल फ्रेंचाइजी मुंबई इंडियन्स  सनराइजर्स हैदराबाद से भी जुड़े हुए हैं

दोनों के अतिरिक्त शिकायतकर्ता संजीव गुप्ता भी अलग से पेश हुए खबरों के मुताबिक बीसीसीआई लोकपाल जैन ने उन्हें लिखित में बयान पंजीकृत कराने के लिए बोला हैतेंदुलकर  लक्ष्मण दोनों ने तीन घंटे से भी अधिक समय तक अपना पक्ष पेश किया इस मुद्दे में 20 मई को सुनवाई हो सकती है

इन दोनों ने हितों के विवाद का खंडन किया था तेंदुलकर ने बोला था कि मुंबई इंडियंस के साथ वह स्वैच्छिक कार्य करते हैं जबकि लक्ष्मण ने बोला कि अगर उनका हितों का विवादसाबित हो जाता है तो वह सीएसी से त्यागपत्र दे देंगे

क्या था मामला

तेंदुलकर  वीवीएस लक्ष्मण को (एमपीसीए) के मेम्बर संजीव गुप्ता की ओर से दायर शिकायत पर नोटिस भेजा गया था शिकायत में बोला गया था कि लक्ष्मण ने सनराइजर्स हैदराबाद  तेंदुलकर ने मुंबई इंडियन्स के ‘सहायक सदस्य’ और बीसीसीआई के क्रिकेट सलाहकार समिति (सीएसी) के मेम्बर के रूप में दोहरी किरदार निभाई इससे हितों के विवादका मुद्दा बनता है

सचिन तेंदुलकर ने आईपीएल टीम मुंबई इंडियंस से जुड़ने पर लगे हितों के विवाद के आरोपों का खंडन किया था उन्‍होंने बोला था कि आरोप पूरी तरह से गलत है उन्हाेंने स्पष्ट किया था कि वह मुंबई इंडियंस टीम से एक भी पैसा नहीं लेते हैं साथ ही वह टीम में किसी भी फैसला प्रक्रिया में शामिल नहीं रहे हैं बता दें कि सचिन तेंदुलकर मुंबई इंडियंस टीम के साथ आइकन खिलाड़ी के तौर पर जुड़े हुए हैं

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *