Thursday , May 23 2019
Loading...
Breaking News

पुलिस ने यहाँ से बरामद किया शराब का जखीरा

पुलिस ने हरिद्वार बाईपास पर एक वर्कशॉप की पहली मंजिल पर चल रही नकली शराब बनाने की फैक्ट्री का भंडाफोड़ किया है. पुलिस ने मुखिया समेत चार लोगाें को मौके से अरैस्टकर शराब का जखीरा बरामद किया है. फैक्ट्री से ड्रमों में भरी 400 लीटर स्प्रिट अल्कोहल  देसी शराब के पव्वों की 65 पेटी बरामद की गई हैं.
यहां बनने वाली नकली शराब की आपूर्ति ऋषिकेश  पहाड़ी क्षेत्राें में होती थी. पकड़े गए लोगों में तीन उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर  चौथा आरोपी हरियाणा के जगाधरी का बताया गया है. वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक निवेदिता कुकरेती ने बताया कि इस विषय में मिली सूचना के आधार पर जाँच के लिए एसओजी प्रभारी ऐश्वर्य पाल, रानी पोखरी थानाध्यक्ष पीडी भट्ट नेहरू कालोनी एसओ दिलबर नेगी की संयुक्त टीम गठित की गई थी.
सूचना की पुष्टि होने के बाद मंगलवार शाम वर्कशॉप पर छापा मारा गया, जहां पर शराब की पेकिंग करते हुए चार लोगाें को हिरासत में लिया गया. इनमें संजय निवासी सैदपुर बुलंदशहर, यतेन्द्र सिंह निवासी सियाली बुलंदशहर, राहुल कुमार निवासी मांगरोल  रविन्द्र पाल सिंह निवासी जड़ौदा गेट जगाधरी शामिल हैं.
एसएसपी ने बताया कि आरोपी संजय बहुत ज्यादा समय से शराब की तस्करी में लिप्त है. संजय ने हरियाणा के रविंद्र पाल के साथ अधिक मुनाफा कमाने के लिए यह फैक्ट्री प्रारम्भकी थी. आरोपियों ने वर्कशॉप किराए पर लेने के साथ पहली मंजिल का भाग अपने व्यक्तिगत इस्तेमाल के लिए लिया. इसी हिस्से में फैक्ट्री प्रारम्भ की गई. कच्चा माल सोनू सरदार रविंद्र पाल लाते थे. (पकड़े गए आरोपी)
संजय शराब के लेबल, हॉलमार्क  स्टीकर शामली से छपवा कर लाता था. कबाड़ियाें के माध्यम से शराब की खाली बोतलों  पव्वों की व्यवस्था की जाती थी. दोनों ने मुनाफा बढ़ने पर यतेन्द्र  राहुल को भी अपने साथ जोड़ लिया था. मौके से खाली पव्वों के छह कट्टे, खाली बोतलों के चार कट्टे, ढक्कन लगाने वाली मशीन, कई कंपनियों के लेबल, रेपर, हॉलमार्क, स्टिकर, पानी की बीस बोतल, एल्कोमीटर, आदि भी बरामद हुए हैं.
आरोपी शराब की तस्करी में बीएमडब्लू आदि जैसी महंगी कारों का प्रयोग करते थे. एसपी सिटी श्वेता चौबे ने बताया कि आरोपियों का मानना था कि ऐसा करने से पुलिस को संदेह नहीं होगा. यही नहीं शराब ले जाते समय गैंग का एक मेम्बर एक किलोमीटर आगे चलता था, ताकि रास्ते में चेकिंग होने की स्थिति में पीछे आ रहे साथियाें को अलर्ट किया जा सके. पुलिस ने कार को कब्जे में ले लिया है.
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *