Friday , April 19 2019
Loading...
Breaking News

राष्ट्र के नए हीरो बनकर उभरे ये खिलाड़ी आखिरी गेंद पर जमाकर मारा छक्का

1986 में जिसने भी जावेद मियादाद का वो ऐतिहासिक छक्का देखा है, वह आज भी उसकी जेहन में है चेतन शर्मा की गेंद पर लगाया गया वह ऐसा छक्का था, जिसका प्रभाव कम से कम पांच वर्ष तक रहा उसके बाद अगले पांच वर्ष तक इंडियन टीम जब भी शारजाह में पाक के सामने आई, तो उसे पराजय का सामना करना पड़ा आखिरी गेंद पर ऐसा ही एक छक्का लगाने का श्रेय हिंदुस्तान के के नाम है उसका शुरुआती प्रभाव भी मियादाद के छक्के की तरह ही रहा दिनेश कार्तिक राष्ट्र के नए हीरो बनकर उभरे हालांकि, एक वर्षपूरा होने से पहले ही वे टीम से अपनी स्थान गंवा चुके हैं

दिनेश कार्तिक ने पिछले वर्ष 18 मार्च को जिस मैच में आखिरी गेंद पर छक्का लगाया, वह फाइनल था बांग्लादेश ने इस टी20 मुकाबले में हिंदुस्तान को 167 रन का लक्ष्य दिया थाजब दिनेश कार्तिक क्रीज पर उतरे तब तक हिंदुस्तान के हाथ से बाजी छिटकती लग रही थी हिंदुस्तान ने इस मैच में पांचवां विकेट 133 के स्कोर पर गंवाया दिनेश कार्तिक जब क्रीज पर उतरे तो हिंदुस्तान को जीत के लिए 12 गेंद पर 34 रन की दरकार थी

कार्तिक ने छक्के से खोला था खाता 
दिनेश कार्तिक ने आते ही पहली ही गेंद पर छक्का जमाया ये तो आरंभ भर थी छह गेंद खेलते-खेलते कार्तिक के नाम 22 रन दर्ज हो चुके थे इनमें से दो छक्के  दो चौके शामिल थेअगले यानी, आखिरी ओवर में हिंदुस्तान को 12 रन की आवश्यकता थी हिंदुस्तान ने इस ओवर की पांच गेंदों पर सात रन बनाए  एक विकेट भी गंवा दिया  इससे इंडियन टीम पर दबाव आ गया था

 

सौम्य गवर्नमेंट की आखिरी गेंद पर लगा छक्का 
सौम्य गवर्नमेंट आखिरी गेंद फेंकने को तैयार थे  दिनेश कार्तिक स्ट्राइक एंड पर थे वे सात गेंदों पर 24 रन बना चुके थे उनकी तूफानी पारी ने हिंदुस्तानियों में उम्मीद जगा दी थी, लेकिन लक्ष्य सरल नहीं था आखिरी ओवर में हिंदुस्तान को पांच रन की आवश्यकता थी यानी, जीत तभी मिलती, जब कार्तिक छक्का लगाते लोगों के जेहन में 1986 का वो मैच घूम रहा था, जब पाक को आखिरी गेंद पर चार रन की आवश्यकता थी  जावेद मियादाद ने छक्का जमा दिया था दिनेश कार्तिक ने भी उस दिन मियादाद का कारनामा दोहराया हिंदुस्तान को असंभव सी जीत दिला दी

एक वर्ष में ऐसे घूमा वक्त का पहिया 
दिनेश कार्तिक 18 मार्च 2018 के बाद हिंदुस्तान के फिनिशर के तौर पर उभरे उन्होंने कई कांटे के मुकाबले जिताए भी पर वे आज भारतीय टीम से बाहर हैं 18 मार्च के उस ऐतिहासिक मैच में विजय शंकर भी खेले थे उन्होंने उस मैच में 19 गेंद पर 17 रन बनाए थे

 

आखिरी ओवर में रन नहीं बना पर रहे थे विजय 
विजय शंकर आखिरी ओवर में रन नहीं बना पा रहे थे  पांचवीं गेंद पर आउट भी हो गए थे तब उन्हें सोशल मीडिया पर ट्रोल होना पड़ा था आज की तारीख में विजय शंकर विश्व कप की टीम में शामिल होने के दावेदार हैं वे हिंदुस्तान की पिछली तीन सीरीज में टीम का भाग रहे हैं

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *