Thursday , April 18 2019
Loading...
Breaking News

हमारी आदतें हमारी पिछली क्रियाओं के कारण बनती हैं: शेनहाव

अगर आप जिम जाने और पोषक तत्वों से भरपूर भोजन करने जैसी अच्छी आदतें अपनाना चाहते हैं तो आपको इन आदतों को तबतक दोहराना पड़ेगा, जबतक ये आपकी आदतों से चिपक न जाएं. यह खुलासा एक नए अध्ययन में हुआ है.

शोधकर्ताओं ने एक मॉडल बनाया, जो बताता है कि अच्छी और बुरी आदतें आपके काम से आपको मिली संतुष्टि से ज्यादा आपके काम की निरंतरता पर निर्भर करती हैं.

ब्राउन यूनिवर्सिटी के असिस्टेंट प्रोफेसर अमिताई शेनहाव ने कहा, “मनोवैज्ञानिक यह समझने की कोशिश कर रहे हैं कि एक सदी से हमारी आदतें कैसे बनती हैं और सबसे प्रमुख प्रश्न ये है कि हम जो करते हैं, उसके मुकाबले कितनी आदतें हैं, जो हम चाहते हैं.”

शेनहाव ने कहा, “हमारी आदतें हमारी पिछली क्रियाओं के कारण बनती हैं, लेकिन निश्चित परिस्थितियों में सर्वश्रेष्ठ परिणाम लाने के लिए उन आदतों के स्थान पर हमारी इच्छाएं आ जाएंगी.

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *