Thursday , March 21 2019
Loading...

फीमेल ऑर्गैज्म से जुड़े 7 सवाल, जो कर देंगे आपको हैरान

सेक्‍स के बारे में महिलाओं की इच्‍छाओं को लेकर कई प्रकार की बातें कही जाती हैं। अक्‍सर सुनने में आता है कि महिलाओं को उत्तेजित करने में पुरुषों को काफी टाइम लगता है। आज हम आपको बता रहे हैं फीमेल ऑर्गैज्म से जुड़े 7 सवालों के जवाब जो आपकी सेक्‍स ड्राइव में मददगार साबित हो सकते हैं…

Related image

कुछ महिलाओं को ऑर्गैज्म तक पहुंचने में काफी वक्‍त लगता है। ऐसे में वह खुद को असामान्य समझने लगती हैं। कई बार इसकी वजह आपका पार्टनर भी हो सकता है। हो सकता है वह आपको सही तरीके से उत्तेजित न कर पाता हो या फिर पेनिट्रेशन में कोई समस्या हो। बहुत सी महिलाएं पेनिट्रेटिव सेक्‍स से ऑर्गैज्म तक नहीं पहुंचती। ऐसे में ओरल सेक्‍स हेल्‍प कर सकता है।

लूब्रिकेंट को लेकर भी काफी कन्फ्यूजन रहता है। अक्‍सर यह माना जाता है कि महिलाओं का प्राइवेट पार्ट नैचरली लुब्रिकेटिड रहता है इसलिए उन्‍हें लूब्रिकेंट की जरूरत नहीं होती। ऐसा नहीं है, मार्केट में कई लूब्रिकेंट मौजूद हैं जो उत्तेजना को बढ़ाते भी हैं। इसे प्रयोग करके आप सेक्‍स ड्राइव को बेहतर कर सकती हैं।

अक्‍सर मास्‍टरबेशन को लोग गलत मानते हैं। हम आपको बता दें ऐसा कोई भी काम गलत हो ही नहीं सकता जो आपको सुख दे। खुद से प्‍यार दिखाने में कैसी शर्म। मास्‍टरबेशन से आपको अपने उन बॉडी पार्ट्स को पहचानने में मदद मिलती है जिनको टच करने पर आप अच्‍छा फील करती हैं।

एक्‍सर्साइज सेहत के लिए अच्‍छी चीज है ये सब जानते हैं। जब बात आती है ऑर्गैज्म की तो भी इसमें भी एक्सर्साइज मददगार है। इससे प्राइवेट पार्ट के मसल्‍स मजबूत होते हैं तो सेक्‍स में आप ऑर्गैज्म को आसानी से हासिल कर लेती हैं।

छोटी सी दिखने वाली क्लिटरिस अंदर से काफी गहरी और मजबूत होती है। मास्‍टरबेशन के दौरान इसको टच करते रहने से क्‍या इसे नुकसान हो सकता है? इसका जवाब है नहीं। महिलाओं का यह अंग ही उन्‍हें उत्तेजना प्रदान करता है, ऐसे में नुकसान कैसा।

सेक्‍स के दौरान सारी महिलाएं जी-स्‍पॉट ऑर्गैज्म तक नहीं पहुंच पातीं। मगर इंटरनेट और कई मेडिकल जर्नल ऐसी कई महिलाओं की रिपोर्ट्स से भरे पड़े हैं, जिन्‍होंने जी-स्‍पॉट ऑर्गैज्म को फील किया है। इसका अर्थ है कि जी-स्‍पॉट वाकई में होता है।

कई महिलाएं ऐसी हैं जो सेक्‍स के वक्‍त बेहतर ऑर्गैज्म हासिल कर पाती हैं। इसके लिए आप वजाइनल सेक्‍स के साथ-साथ सेक्‍स टॉय का भी प्रयोग कर सकती हैं।

loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *